.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

,

,

.

.
.

सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए सुरक्षा के प्रति जागरुकता लाना ज़रूरी: मण्डलायुक्त

मोटर बाइक से बिना हेलमेट स्कूल आने वाले छात्रों को स्कूल में दाखिल होने से रोका जाय

 दुर्घटना की आशंका वाले चिन्हित ब्लैक स्पाट को तत्काल ठीक कराया जाय

आज़मगढ़ 20 दिसम्बर -- मण्डलायुक्त जगत राज ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए लोगों में सुरक्षा और यातायात नियमों के पालन के प्रति जागरूकता लाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि लगातार हो रही सड़क दुर्घटओं से स्पष्ट हो रहा है कि लोग सड़क सुरक्षा के प्रति पूरी तरह सजग और सतर्क नहीं हैं। मण्डलायुक्त ने वृहस्पतिवार को अपने कार्यालय कक्ष में मण्डलीय सड़क सुरक्षा समिति की आयोजित बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि मुख्य सड़कों पर जहाॅं अस्पताल और विद्यालय हैं वहाॅं पर साइनेज लगवाया जाय। उन्होंने कहा कि परिवहन विभाग, पुलिस विभाग एवं लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों द्वारा चिन्हित ब्लैक स्पाट को तत्काल ठीक कराया जाय। उन्होंने सड़क से सम्बन्धित एजेन्सियों को निर्देश दिया कि यदि ब्लैक स्पाट को ठीक कराने में अधिक समय लगने की संभावना हो तो ऐसे स्थलों पर सड़क सुरक्षा से सम्बन्धित चिन्हों का बोर्ड, रंबलिंग स्ट्रिप, रिफ्लेक्टिंग कलर आदि लगवाना सुनिश्चित किया जाय। मण्डलायुक्त जगत राज ने कहा कि बच्चों द्वारा दिये गये सकारात्मक सन्देशों का लागों पर काफी असर होता है, इसलिए सड़क सुरक्षा से सम्बन्धित पम्फलेट छपवाकर स्कूलों में वितरित कराया जाय ताकि बच्चे शुरू से ही सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक रहें तथा दूसरों को भी इसके प्रति सजग रहने के लिए प्रेरित कर सकेें। इसी क्रम में उन्होेंने एडी बेसिक को निर्देश दिया कि सड़क सुरक्षा के सम्बन्ध में स्कूलों में प्रति सप्ताह समय निर्धारित करते हुए बच्चों को यातायात नियमों की जानकारी देने की व्यवस्था सुनिश्चित करें। इसके साथ ही उन्होंने दोपहिया वाहनों के लिए हेलमेट की अनिवार्यता को सुनिश्चित करने हेतु लगातार चेकिंग करने का निर्देश दिया। उन्होंने संयुक्त निदेशक माध्यमिक शिक्षा को निर्देश दिया कि मोटर बाइक से बिना हेलमेट स्कूल आने वाले छात्रों को स्कूल में दाखिल होने से रोकने हेतु अग्रेतर कार्यवाही करें।
मण्डलायुक्त जगत राज ने कहा कि सड़क सुरक्षा की दृष्टि से स्कूल वाहन चालकों को प्रशिक्षित किये जाने का प्राविधान है। इस सम्बन्ध में उन्होंने संभागीय परिवहन अधिकारी को निर्देश दिया कि स्कूल वाहन चालाकों के प्रशिक्षण की कार्यवाही यथाशीघ्र करायें। उन्होेंने ने कहा कि प्रायः विद्यालयों की बसें सड़कों पर खड़ी रहती हैं जिससे यातायात बाधित होता है। उन्होने आरटीओ को निर्देशित किया कि जिन विद्यालयों की बसें सड़कों पर खड़ी होती हैं उन विद्यालयों को तत्काल नोटिस जारी करें। मण्डलायुक्त ने कहा कि पुलिस, परिवहन तथा मजिस्ट्रेट की संयुक्त टीम बनाकर सघन चेकिंग अभियान चलाया जाय, चेकिंग मंे जो भी बिना हेलमेट, बिना सीट बेल्ट, वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग करते हुए एवं नशे की हालत में वाहन चलाते हुए पाया उसके खिलाफ कार्यवाही की जाये।
इस अवसर पर संभागीय परिवहन अधिकारी दरोगा सिंह, पुलिस अधीक्षक (यातायात) तारिक मुहम्मद, अपर निदेशक स्वास्थ्य डा. एनएल यादव, उप निदेशक पंचायती राज जयदीप त्रिपाठी, संयुक्त शिक्षा निदेशक जीके सिंह, अधिशासी अभियन्ता, लोक निर्माण नजमुद््दीन, सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी (प्रवर्तन) एसके सिंह, अभिषेक पण्डित सहित अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment