.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

अहरौला : प्रधान ने विरोधी को फंसाने के लिए खुद पर फायरिंग कराया था,साथियों संग पंहुचा जेल

आजमगढ़ : अहरौला थाने के बरईपुर गांव के प्रधान  पर बुधवार की रात में हुई फायरिंग की खबर जहाँ चौका देने वाली रही वही इस घटना का पुईस द्वारा किया गया खुलासा और भी चौंका देने वाला रहा। जांच के बाद पता चला की अपने विरोधी पट्टीदार को फंसाने के लिए प्रधान ने अपने लोगों से खुद पर रिवाल्वर से फायरिंग कराई और शोर मचाते हुए वहां मौजूद विरोधी को पकड़ कर पिटाई कर पुलिस के हवाले कर दिया था। मामला थाने पर पहुंचने पर पुलिस ने देर रात में जांच पड़ताल के दौरान ग्राम प्रधान की साजिश का पर्दाफाश करते हुए गुरुवार की सुबह तक ग्राम प्रधान राजनरायन सिंह सहित चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया और सभी को जेल भेज दिया।
जानकारी के अनुसार अहरौला थाने के बरईपुर गांव निवासी ग्राम प्रधान राजनरायन सिंह पुत्र रामदुलार सिंह बुधवार की शाम लगभग आठ बजे अपनी निजी कार से अकबरपुर से घर आ रहा था । इस बीच गांव से पहले ही भैरोपुर मस्जिद के पास गाड़ी रोक कर चाय पीने लगा। इसी दुकान पर उसके विरोधी भी पांच की संख्या में बैठे थे। इस दौरान विरोधियों में से एक युवक और ग्राम प्रधान के बीच कहा-सुनी होते ही किसी ने फायरिंग कर दी। फायरिंग होते ही ग्राम प्रधान ने गोली मारने की बात कहना शुरू कर दिया। हालांकि किसी को गोली नहीं लगी थी। शोर सुनते ही ग्राम प्रधान के समर्थकों ने गोली चलने के भय से भाग रहे एक युवक को दौड़ा कर धर दबोचा और उसकी धुनाई कर थाने पर ले गए। इस बीच सौ नंबर पर सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने ग्राम प्रधान के समर्थकों के चंगुल से अतरौलिया थाने के बिहरा बुजुर्ग निवासी अजय सिंह पुत्र सूर्यनाथ सिंह को मुक्त कराया। जांच पड़ताल के दौरान पता चला कि ग्राम प्रधान राजनरायन सिंह ने भूमि विवाद में पट्टीदार को फंसाने के लिए खुद पर अपनों लोगों से रिवाल्वर से फायरिंग कराई थी।
एसपी ग्रामीण नरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि बरईपुर ग्राम प्रधान राजनरायन सिंह ने भूमि विवाद को लेकर पट्टीदारों को फंसाने के लिए खुद पर फायरिंग कराई थी। उसका अपने पट्टीदार से भूमि विवाद और घर के बंटवारे को विवाद चला आ रहा है। बुधवार की रात में ग्राम प्रधान सहित समर्थकों ने पट्टीदार सनी सिंह पुत्र दारा सिंह को जान मारने की नीयत से फायर किया था। गोली किसी को नहीं लगी। दहशत में सनी सिंह भाग कर जान बचाई। जबकि उसके रिश्तेदार अजय सिंह को ग्राम प्रधान समर्थकों ने पकड़ लिया। उन्होंने बताया कि पीड़ित सनी सिंह की तहरीर पर ग्राम प्रधान राजनरायन सिंह, ग्राम प्रधान के भाई राजकुंवर सिंह, जितेंद्र सिंह और शिवा सिंह पुत्र राजकुंवर सिंह के खिलाफ 307 का मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है। तलाश के दौरान घटना में प्रयुक्त राजकुंवर सिंह की लाइसेंसी पिस्टल व दो जिंदा कारतूस भी बरामद किया गया है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment