.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आशा कार्यकर्ताओं के जोरदार प्रदर्शन से प्रशासन में मचा हड़कंप,जिलाधिकारी ने दिया आश्वासन

आजमगढ़ : आशा बहू कल्याण समिति के बैनर तले मंगलवार को आशा कार्यकर्ताओं ने छह सूत्रीय मांग को लेकर शहर के विभिन्न मार्गों से जुलूस निकाला। इसके बाद वह डीएम कार्यालय पहुंचकर धरना देते हुए जमकर सरकार विरोधी नारे लगाईं। धरना स्थल पर पहुंचे सीएमओ का आशा कार्यकर्ताओं ने घेराव किया। सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप सरीखा माहौल हो गया। मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी ने आशा कार्यकर्ताओं की समस्याओं के निस्तारण करने का आश्वासन दिया। तब जाकर आशा कार्यकर्ताओं ने धरना समाप्त किया।
मृतका आशा बहू कमलावती के परिवारीजनों को समुचित मुआवजा देने सहित छह सूत्रीय मांग को लेकर आशा कार्यकर्ताओं ने गत 18 अगस्त को जिला मुख्यालय पर धरना दिया था। जिला प्रशासन ने मांग पूरी करने का आश्वासन देते हुए धरने को समाप्त करवा दिया। बावजूद कोई ठोस कदम नहीं उठाया। इससे क्षुब्ध होकर आशा कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को जिला मुख्यालय पहुंचकर धरना प्रदर्शन किया। साथ ही जमकर सरकार विरोधी नारे की। आशा बहुओं ने जिला मुख्यालय पर आए सीएमओ का घेराव कर अपनी आवाज बुलंद की। सीएमओ के घेराव की सूचना पर पुलिस प्रशासन में हड़कंप सरीखा माहौल हो गया। सिविल लाइन पुलिस चौकी, शहर कोतवाली व सिधारी थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। सूचना मिलने पर जिलाधिकारी शिवाकांत द्विवेदी भी पहुंचे और उन्हें समझा-बुझाकर शांत कराया। जिलाधिकारी ने आशा कार्यकर्ताओं से समस्या के निस्तारण के लिए तीन दिन के समय की मांग की। वहीं जिलाधिकारी ने मृतक आशा बहू कमलावती के बच्चों को सहायता के रूप में 20 हजार रुपये का चेक प्रदान किया। साथ ही उन्होंने कहा कि 22 सितंबर को वह सीएमओ कार्यालय में आशा कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे। जिलाधिकारी के आश्वासन पर आशा कार्यकर्ता शांत हुई और धरने को समाप्त की। इस दौरान जिलाध्यक्ष विभा राय ने कहा कि उनकी मांग पूरी नहीं की गई तो समस्त आशा कार्यकर्ता कार्य बहिष्कार कर आंदोलन के लिए बाध्य होंगी। इस अवसर पर जिला संरक्षक उमाशंकर सिंह सहित समस्त आशा कार्यकर्ता उपस्थित थीं। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment