.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्ट भूमिका निभा रहीं नारी शक्तियों का हुआ सम्मान

आजमगढ़: अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर नारी शक्ति संस्थान द्वारा नारी शक्ति सम्मान समारोह-2018 का आयोजन बुधवार को रोडवेज स्थित हल्दीराम बैंक्वेट हाल में किया गया। सर्वप्रथम संरक्षक मंडल और पदाधिकारियों ने मां दुर्गा के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ किया। सम्मान समारोह की अध्यक्षता नीलिमा श्रीवास्तव व संचालन अनीता द्विवेदी व प्रतिमा सिंह ने किया। समारोह में प्रदेश के पांच जनपदों से विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्ट कार्य करने वाली 15 नारी शक्तियों को सम्मानित किया गया।
स्वागत भाषण को संबोधित करते हुए संस्थान की अध्यक्ष डा0 वन्दना द्विवेदी ने कहा कि इस सम्मान समारोह के आयोजन का उद्देश्य है कि नारी शक्तियों को एकजुट करना और उनके हाथों को मजबूत करना ताकि महिलाएं अपनी शक्ति को पहचाने और अपनी क्षमता से पूरे समाज का प्रतिनिधित्व करें तभी इस समाज को बेहतर और सभ्य बनाया जा सकता है।
सचिव डा. पूनम तिवारी ने कहा कि महिलाएं खुद को असहाय और कमजोर न समझे क्योंकि आधी आबादी नारी शक्तियों की हैं, आज पूरे विश्व में नारी शक्तियों ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया हैं आगे हमें और मजबूती के साथ खुद को सबल बनाने की आवश्यकता है इसके लिए आत्मविश्वास के साथ संघर्ष करना होगा।
विश्व महिला दिवस पर चर्चा करते हुए रानी अनामिका सिंह ने कहा कि आठ मार्च को विश्व महिला दिवस मनाया जाता है लेकिन हमें अपनी प्रतिभा के माध्यम से हर दिन को महिला दिवस के रूप में मनाना है, तभी महिलाओं पर हो रहे अत्याचार पर रोक लगाया जा सकता है।
सुधा तिवारी ने कहा कि अपने आस-पास अगर किसी नारी का शोषण हो रहा तो आप मुखर होकर आपत्ति जताये, अपने हक के लिए एक-एक नारी शक्ति को हमें जगाना होगा। अर्चना वत्सल ने कहा कि नारी जननी है और वे सृजन करना जानती है, विश्व महिला दिवस पर हमें प्रण लेना होगा कि हम अपने आस-पास की सभी महिलाओं को मजबूत करें ताकि नारी शक्ति का मजबूत बनाया जा सके।
इस दौरान सर्वाधिक महिला शक्तियों को संस्थान से जोड़ने के लिए पूनम जसपाल सिंह व बबिता जसरासरिया को विजय लक्ष्मी मिश्रा, अर्चना वत्सल, रानी अनामिका सिंह, अनीता द्विवेदी द्वारा सम्मानित किया गया। इस दौरान मुखड़ा प्रतियोगिता का सफल संचालन रश्मि डालमिया, डा पूनम तिवारी, बबिता जसरासरिया, विजय लक्ष्मी मिश्रा द्वारा किया गया।
इसके बाद विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली नारी शक्तियों को नारी शक्ति सम्मान से नवाजा गया। जिसमे साहित्यिक क्षेत्र से श्रीमती अंजना सिंह सेंगर, डा गीता सिंह को सम्मानित किया गया। इसके बाद सामाजिक क्षेत्र से श्रीमती चारू शर्मा, पूनम पांडेय मऊ, श्रीमती अर्चना दूबे, सविता सुमन, श्रीमती तनुजा मिश्रा को सम्मानित किया गया। धार्मिक एवं स्वास्थ्य क्षेत्र से श्रीमती उषा शर्मा व डा. खूशबू सिंह, प्रशासनिक क्षेत्र से महिला थानाध्यक्ष कल्पना मिश्रा, शिक्षा एवं राजनीतिक क्षेत्र से कुमारी डा. पूजा पांडेय, कुमारी फरहाना सिद्दीकी, नगर पालिका अध्यक्ष शीला श्रीवास्तव व बलिया के रतसर कला की प्रधान डा स्मृति सिंह को सम्मानित किया गया। प्रधान डा स्मृति सिंह लखनऊ विश्व विद्यालय से पीएचडी है। इन्होने चकाचौंध भरी जिंदगी को छोड़कर गांव की मिट्टी से जुड़ने का फैसला लिया और बलिया जिले के रतसर कला गांव की वर्तमान ग्राम प्रधान है जिन्होंने चुनाव में अपने प्रतिद्वन्दी को 2083 मतों से पराजित कर पूरे प्रदेश में सर्वाधिक मतों से महिला विजयी प्रत्याशी रहीं। इन्हें 8 मार्च 2016 को महिला दिवस पर तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रानी लक्ष्मी बाई वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया। इसके अलावा 28 दिसम्बर 2016 को नेपाल में आयोजित ग्रामीण नेशनल कांफ्रेन्स में भी भारत एवं नेपाल सरकार द्वारा सम्मानित किया जा चुका है। वहीं खेल के क्षेत्र में चिल्ड्रेन सीनियर सेकेण्ड्री स्कूल की कक्षा 8 की छात्रा कुमारी अर्चिषा त्रिपाठी ने नेशनल लेवल पर किक बाक्सिंग में गोल्ड जीतने के पहले स्टेट लेवल पर भी गोल्ड एवं सिल्वर विजेता रही को सम्मानित कर नारी शक्ति संस्थान मान बढ़ान का काम किया। सम्मान से अभिभूत होकर सम्मानित महिलाओं ने अपने अपने यादों को मंच पर साझा किया और नारी शक्तियो को डटकर समाज में अपने हक के लिए आगे आने हेतु प्रेरित किया। अंत में अध्यक्षीय संबोधन नीलिमा श्रीवास्तव व आभार डा पूनम तिवारी ने ज्ञापित किया। कार्यक्रम में विजय लक्ष्मी मिश्रा, एसपी की पत्नी रीता साहनी भी मौजूद रही।
इस अवसर पर संस्था सीडीओ आजमगढ़ की पत्नी रिचा सिंह, पूर्व नपा अध्यक्ष इंदिरा देवी जायसवाल, उमा प्रजापति, पूनम जसपाल सिंह, अनीता खंडेलिया, बबिता जसरासरिया, ममता राय, रश्मि डालमिया, विनीता राय, प्रियंका चौरसिया, डा शारदा सिंह, शीला द्विवेदी, अर्चना श्रीवास्तव, जरीना खातून, मधु अस्थाना, अलका अस्थाना, डा शशि श्रीवास्तव, आशा सिंह, डा शैलजा त्रिपाठी, अनीता यादव, अनीता द्विवेदी, डा शशि अस्थाना, अनामिका प्रजापति, डा लीना मिश्रा, नीतू कश्यप, निरूपमा दुबे, अनीता सिंह अंचल, रानी सिंह, रिंकू प्रशांत, मंजू श्रीवास्तव, शालिनी अग्रवाल, मंजू राय, किरण रूंगटा, राधिका, डाली, आभा, सुधा, मंजू उपाध्याय, नीमिया अग्रवाल, राधा अग्रवाल, शीला दुबे, सुधा पांडेय, डा सविता, डा विनीता राय, शंगू कृष्ण प्रिया, आरसी सरीक, अंजली कुशवाहा, डा सुनीता राय, सीमा, स्नेहलता आदि भारी संख्या में नारी शक्ति मौजूद रही। 


Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment