.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

भाजपा पर हमले करते रहे अखिलेश , नहीं सुधरे तो 2019 में उखाड़ फेकेगी देश की जनता

आज़मगढ़  : सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज केंद्र और उत्तर प्रदेश की सरकार को प्रत्येक मोर्चे पर विफल बताया कहा की केंद्र की तीन वर्ष की सरकार तो आज तक नौजवानों ,किसानों के लिए कुछ कर नही सकी वह केवल पूँजीपतियो पर मेहरबान है। उन्होंने उत्तर प्रदेश की सरकार की चुटकी ली कहा की इसके ऊपर केवल एक ही कहावत सही बैठती है की "पूत के पावँ पालने में ही दिखने लगे है" प्रदेश सरकार की तो अब पुलिस वाले भी नही सुनते ,मुख्यमंत्री के क्षेत्र में इतनी मौतों ने विफलता दर्शा ही दिया ।अखिलेश यादव ने आज जमकर निशाना  साधते हुए  कहा कि भाजपा कहती है कि हम भेदभाव करते हैं। मैं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से पूछना चाहता हूं कि उन्होंने गोरखपुर में क्या किया। गोरखपुर में सबसे अधिक हिन्दू वह भी पिछडो के बच्चों की मौत हुई है। अखिलेश यादव करगिल में शहीद राम समुझ यादव की प्रतिमा का अनावरण कर समारोह को संबोधित कर रहे थे ।
यूपी के पूर्व सीएम ने कहा कि आज किसान का बेटा ही देश की सीमा की रक्षा कर रहा है ।किसान खुशहाल नही है तो देश की सीमा पर कैसे अपने बेटे को भेजेगा । उन्होंने अपने देश के फौजियों पर गर्व जताया कहा विपरीत परिस्थितियों में भी हमारे देश का जवान देश की सीमाओं की सुरक्षा में लगा है । भारत ही दुनिया में एक ऐसा देश है जहा इतने जाति  धर्म और मजहब के लोग एक साथ रहते है और देश की सीमा को कोई खतरा नही है । देश के अंदर फिरकापरस्त ताकतों से सजग रहना होगा और देश के अंदर एक दूसरे का सम्मान करना होगा । उन्होंने कहा हमने महान  भारतीय हॉकी खिलाड़ी ध्यानचंद के पुत्र को यश भारती सम्मान दिया और भाजपा ने उनकी पेंशन ही छीन ली। अखिलेश ने ये भी कहा बीजेपी वाले झाड़ू बहुत अच्छा लगाते हैं, आजकल अफसर भी खूब झाड़ू लगा रहे है। हम सत्ता में आए तो देखेंगे कितना झाड़ू लगाते हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी द्वारा पिछली सरकार के हुए कार्यो को बंद करने और नाम बदलने पर भी टीप्पणी की और कहा कि जो बोओगे वही काटोगे,हम आएंगे नाम बदलेंगे तो बुरा मत मानना। इसी दौरान समाजवादी पेंशन और डायल 100 व सैफई स्टेडियम के नाम बदलने पर अखिलेश ने योगी सरकार को चुनौती भी दी ।
उन्होंने कटाक्ष किया की भाजपा ने हमारे एमएलसी को 'प्रसाद' देकर तोड़ लिया, ना जाने कौन सा प्रसाद देते हैं बीजीपी वाले। यदि बीजेपी में दम था तो मैदान में सीधे चुनाव लड़ते, प्रसाद देकर एमएलसी को तोडना गलत है। यह कौन सा प्रसाद है इसको जानना होगा ताकि भविष्य में वे इसका इस्तेमाल कर सकें ।
तंज कसा कि  भाजपा का  दो करोड़ लोगों को रोजगार देने का वादा झूठ सावित हुआ ।उन्होंने उत्तर प्रफेश के पूर्वांचल एक्सप्रेस वे को बंद करने पर भी नाराजगी जताई कहा सड़कें बनेंगी तभी विकास होगा और खुशहाली का रास्ता बनेगा । उन्होंने कहा एक दिन झाड़ू लगाने से देश स्वच्छ नही होगा । अखिलेश ने कहा की सरकार भ्रष्ट्राचार पर अंकुश नही लगा पा रही है उन्होंने कहा 2019 के चुनाव में इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।   जनता सरकार के सारे वादों का आकलन कर रही है । जी एस टी और नोटबंदी से नौजवानों का कोई फायदा नही हुआ । अगर नहीं सुधरे तो जनता उखड फेंकेंगी   । अंत में उन्होंने लुभावने अंदाज में जनता से समाजवादी पेंशन 1 हज़ार से 15 सौ और करने ,प्रत्येक जनपदों में शहीद स्मारक बनाकर सभी शहीदों की मूर्ति लगाने का वादा किया। सरकार द्वारा बाढ़  प्रभावित इलाको में सही तरीके से राहत न दिये जाने पर नाराजगी जताई । इस मौके पर नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी, नेता प्रतिपक्ष विधान परिषद अहमद हसन,ओम प्रकाश सिंह, नीरज शेखर पूर्व विधायक आदिल शेख भी मौजूद थे। 


Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment