.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

सहायक टावर कंपनी बनाये जाने के विरोध में बीएसएनएल कर्मचारियों व अधिकारियों ने दिया धरना

बीएसएनएलईयू ने भोजनावकाश में बुलंद की आवाज
आजमगढ़। फोरम आफ बीएसएनएल एक्जीक्यूटिव एवं नान एक्जीक्यूटिव यूनियन एवं एसोसिएशन के आह्वान पर गुरूवार को भारत सरकार द्वारा सहायक टावर कम्पनी बनाये जाने के विरोध में कार्यालय परिसर में भोजनावकाश के दौरान समस्त कर्मचारी एवं अधिकारीगण ने धरना दिया। बता दें कि इस प्रकार का धरना पूरे भारत वर्ष में भोजनावकाश के दौरान चल रहा है।
धरने को संबोधित करते हुए जिला सचिव आनंद कुमार सिंह ने कहा कि भारत सरकार अपनी मनमानी कर रही है जो गलत है। सहायक टावर कंपनी बनाये जाने के विरोध में हम बीएसएनएल अधिकारी व कर्मचारी मिलकर सरकार की नीतियों का विरोध कर रहे है। अगर हमारी मांगों को सरकार नहीं मानती है तो हम सीएचयू के आह्वान पर देेश व्यापी हड़ताल पर चले जायेंगे। जिसकी समस्त जिम्मेदारी सरकार की होगी। जिला सचिव श्री ंिसह ने कहा कि केंद्र में सत्तासीन बीजेपी सरकार केवल पूंजीपतियों की बात मान रही है और सरकारी कंपनियों को दिन प्रतिदिन घाटे पर लाने का काम कर रही है। जिसे हम सभी बर्दाश्त नहीं करेंगे और इसके विरोघ में प्रदर्शन करते रहेंगे। धरने को एसएनईए के जिला सचिव अवनीश ंिसह ने भी संबोधित किया। धरने के दौरान कामता प्रसाद, आरई प्रजापति, आरपी मौर्य, राजेश सोनकर, बीएन यादव, आरएस राम, रंजीत सिंह  , यूके  सिंह, अरविंद्र मौर्या, हीरालाल, दरोगा पाल, शिवशंकर, पंचानन राय, एसपी पांडेय, धर्मेंद्र सिंह, राजा राम प्रजापति, आरके यादव, महेश कुमार, सुनील चैहान, नंदलाल यादव, मुन्नीलाल यादव, राजदेव राम, अशोक, दशरथ राम, यशवंत सोनकर, हरिश्चंद गिरी, सुनील उपाध्याय, जेपी यादव, पन्नु लाल श्रीवास्तव, बसंत मिश्रा, मिठाई लाल, शिवप्रसाद, जितेंद्र, सुनील, बीआर सोनकर, मदनमोहन यादव, यूके सिंह, आरपी सोनकर, रफीक आलम,अमरजीत यादव, रामआशीष, सुदर्शन चैहान, सतिराम गोंड, सुबाष श्रीवास्तव, तौफीक आलम, लालबहादुर, रमाकांत यादव, राजेश राय, नरेंद्र प्रजापति, मुतुर्जा अली, परमेश्वर शाह, सतई, किसमती देवी, कुसुमलता, इंदुमति, मंजू, प्रतिमा सिंह, अशोक तिवारी आदि मौजूद रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment